Batla House Review: सालों बाद कई सवालों के जवाब दे जाती है John Abraham की फिल्म

Batla House

नई दिल्ली। Film : Batla House

  • Rating : 3.5/5
  • Starcast : John Abraham, Mrunal Thakur, Ravi Kishan
  • Director : Nikhil Advani
  • Genre : Action Thriller

फिल्म ने शुरु होने के बाद पहले कुछ ही मिनटों के भीतर, निर्देशक निखिल आडवाणी ने दिल्ली में विवादास्पद 2008 Batla House एनकाउंटर को फिर से यादों में ताजा कर दिया, जिसमें दो इंडियन मुजाहिदीन के सदस्य थे, एक पुलिस अधिकारी के साथ मारे गए थे। फिल्म की शुरुवात बड़े ही सॉलिड तरिके से होती है।

रितेश शाह की पटकथा खुद को सत्य की राशोमोन-शैली के अनुसरण के रूप में दर्शाती है। घटना से कई सवाल उठ रहे हैं: क्या दिल्ली पुलिस सच कह रही थी? क्या वे लोग जो इस्लामिक आतंकवादी या विश्वविद्यालय के छात्र मारे गए थे? क्या मुठभेड़ फर्जी थी? घटना के बाद की नाराजगी बताती है कि राजनेताओं, मीडिया और यहां तक ​​कि अन्य लोगों को भी पुलिस के तथ्यों के संस्करण के बारे में संदेह था।

जॉन अब्राहम डीसीपी संजीव कुमार के रूप में काम करते हैं जो वास्तविक पुलिस अधिकारी थे जिन्होंने ऑपरेशन का संचालन करने वाली दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल का नेतृत्व किया था। फिल्म उसे guilt में डूबे एक व्यक्ति के रूप में पेश करती है, जो पोस्ट-ट्रामा के तनाव में है और अपनी असफल शादी के कारण परेशान थे। वह hallucination से ग्रस्त है। एक्शन दृश्यों को उचित रूप से तनावपूर्ण और प्रभावशाली रूप से मंचित किया गया है, लेकिन कथा नियमित रूप से अनावश्यक गीतों से धीमी हो जाती है। संजीव की पत्नी, मृणाल ठाकुर द्वारा अभिनीत एक टेलीविजन समाचार एंकर, कहानी में एक प्रमुख किरदार है। लेकिन फिल्म बमुश्किल अपने किरदार के साथ कोई न्याय करती है।

दूसरी महत्वपूर्ण भूमिका राजेश शर्मा की है, जो एक सफ़ेद विग में रखा गया था और अभियोजक संजीव के खिलाफ अदालत में बहस कर रहे थे। यह क्लाईमेक्स मनोरंजक है, इसमें मोनोलॉग और क्लैप-ट्रैप लाइनों है जो आपको बेहद पसंद आंएगी। इस फिल्म में बेहतरीन डायलोग्स के साथ कई ऐसे डायलोग्स भी है जो आपको तालियां बजाने के लिए मजबूर कर देगा। सशक्त और बुद्धिमत्ता से परिपूर्ण स्क्रीनप्ले, मजबूत कहानी और लगातार आप को व्यस्त रखने वाला ट्रीटमेंट फिल्म को एक अलग ही मुकाम पर ले जाता है। बाटला हाउस में प्रशंसा करने के लिए बहुत कुछ है।

Batla House में कई ऐसे रियल फुटेज भी लिए है जोकि बाटला हाउस एनकाउंट के समय के है। जिसमें अरविंद केजरीवाल, लालकृष्ण आडवाणी, अमर सिंह, सलमान खुर्शीद, दिग्विजय सिंह जैसे नेताओं के फुटेज थे। यह फुटेज इस फिल्म को रियलिस्टिक बना देते है। आप जॉन अब्राहम के फैन है। इसके साथ ही रियलिस्टिक फिल्में देखने का शौक है तो Batla House को जरुर देखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *